ऐहार के निवासियों के लिए बड़ी खुशखबरी, ग्राम प्रधान ने पूरा किया वर्षों पुराना सपना

रायबरेली के ऐहार गांव के निवासियों के लिए अच्छी खबर है. अब इस गांव में पीने के पानी का संकट दूर होने वाला है. ग्राम प्रधान कार्यालय से जुड़े एक सूत्र के मुताबिक गांव के लिए एक पानी की टंकी लगाने का आदेश लगभग हो चुका है. गांव के लिए दो टंकी की मांग की गई है ताकि समूची आबादी के लिए पानी मुहैया कराया जा सके.

पहले आता था बरस की टंकी से पानी
गांव में आज से 20-25 साल पहले बरस की टंकी से पानी आता था लेकिन लापरवाही और भ्रष्टाचार की वजह से धीरे-धीरे यह व्यवस्था लुप्त हो गई. इसके बाद जो लोग सक्षम थे उन्होंने खुद से हैंडपंप या फिर पानी की मोटर लगवा ली. लेकिन इसका नुकसान ये हुआ कि पानी का बेतहाशा दोहन किया गया जिससे गांव का जलस्तर भी नीचे होता चला गया. वहीं गांव की गरीब जनता सराकारी हैंडपंपों के सहारे काम चलाती है. इन हैंडपंपों से घर तक पानी पहुंचाना भी टेढ़ी खीर है.

जमीन की तलाश जारी
फिलहाल शासन की ओर से मिली इस एक टंकी को लगाने के लिए उचित जगह की तलाश की जा रही ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को पानी पहुंचाया जा सके. बताया जा रहा है कि इसके लिए काफी बड़ी मात्रा में जमीन की जरूरत पड़ेगी और इतनी भूमि अभी फिलहाल ग्राम समाज के पास दिखाई नहीं दे रही है. इसके लिए अब ग्राम समाज की उन जमीनों की भी नाप की जाएगी जिन पर लोगों का अवैध कब्जा है इसके लिए प्रशासन स्तर पर भी बातचीत की जा चुकी है ताकि विकास के कामों में कोई रोड़ा न अटका जा सके.

राशन कार्ड वितरण में होगा सुधार
गौरतलब है कि पंचायत चुनाव के बाद से ही नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान से सबकी उम्मीदें बहुत ज्यादा हैं. ग्राम प्रधान प्रतिनिधि राजेश यादव फौजी ने आश्चर्य जाहिर करते हुए बताया कि राशन कार्ड ऐसे लोगों के नाम बने हुए हैं जो इसके पात्र है ही नहीं. इसकी जानकारी भी प्रशासन को दी जा चुकी है और इस पर एक पूरी लिस्ट तैयार की जा रही है. राजेश यादव ने बताया कि ग्राम प्रधान का साफ का कहना है कि उनके कार्यकाल में कोई भी जरूरतमंद राशन कार्ड के बिना नहीं रहेगा.

बनेगा भव्य पंचायत भवन
इसके अलावा फौजी ने बताया कि ऐहार गांव के जर्जर हो चुके पंचायत भवन के निर्माण के लिए भी फाइल भेजी जा चुकी है. शासन की ओर से एक बार बजट आ जाने के बाद पूरे भवन का निर्माण वो खुद अपनी देख-रेख में कराएंगे ताकि अगले 50 सालों तक इस भवन सुरक्षित रहे.

इसी बीच कुछ लोगों का आरोप है कि पंचायत चुनाव के बीते 1 महीने से ज्यादा हो गए हैं लेकिन ग्राम पंचायत की अभी तक एक ईंट भी नहीं रखी गई है. इस पर प्रधान प्रतिनिधि का कहना है कि पूरा प्रशानिक अमला अभी जिला पंचायत अध्यक्ष की चुनाव में लगा हुआ है. इसके अलावा कोरोना की वजह से भी प्रशासन स्तर पर काम थोड़ा प्रभावित है. लेकिन सभी जरूरी काम प्राथमिकता के आधार पर किए जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *