NTPC जमीन अधिग्रहण: प्रधान चुनाव में याद आया ज्ञापन, इतनी ही चिंता है तो हाजिर हों हाईकोर्ट में : गुड्डू शुक्ला

कानपुर जिले के गांव डोंडवा जमौली में इस समय ग्राम प्रधानी का चुनाव जोरों पर है. इसके साथ ही एनटीपीसी जमीन अधिग्रहण का मुद्दा भी गरमाने लगा है. ग्राम प्रधानी का चुनाव लड़ाने वाले प्रत्याशियों ने इस मुद्दे पर अधिकारियों को ज्ञापन सौंपने का काम भी शुरू कर दिया है ताकि गांव के किसानों का अपनी ओर से मोड़ा जा सके जो सालों से जमीन अधिग्रहण के मुआवजे के रूप में वाजिब हक पाने की लड़ाई लड़ रहे हैं.

गांव के ही निवासी और इस मुद्दे को लेकर सरकारी दफ्तरों, नेताओं की चौखट और हाईकोर्ट तक लड़ाई लड़ रहे गुड्डू शुक्ला का कहना है कि चुनाव के समय ये मुद्दा सबको याद आ रहा है. इससे पहले कोई पूछने वाला नहीं था. उन्होंने कहा, ‘जो भी लोग इस मुद्दे पर ग्राम प्रधान के चुनाव के समय रोटी सेंकना चाहते हैं उनको ये भी पता होना चाहिए कि हाईकोर्ट में मामला लंबित है और अधिकारियों को ऐसे ज्ञापन सौंपने का कोई असर नहीं होना वाला नहीं हैं’. शुक्ला ने नाराज होते हुए कि ऐसे लोग आम जनता को बेवकूफ बना रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘अगर किसी को किसानों के हितों की इतनी ही चिंता है तो हाईकोर्ट में चल रही सुनवाइयों के समय हाजिर ही हो जाएं. इस आंदोलन को ऐसे ही बहुत ऊर्जा मिल जाएगी.’ उन्होंने बताया कि कोरोना की वजह से अदालतों में ज्यादा काम हो नहीं रहा है जिसकी वजह से ये मामला लंबित है’. उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही इस हाईकोर्ट किसानों के साथ न्याय कर उनको उचित मुआवजा दिलाएगा.

आपको बता दें कि ग्राम डोंडवा जमौली में एनटीपीसी जमीन अधिग्रहण में किसानों को सर्किल रेट का चार गुना पैसा मिलना था लेकिन अधिकारियों की मिलीभगत से उनको सिर्फ सर्किल रेट के हिसाब से ही पैसा दिया गया है. इस मामले में एनटीपीसी ने यह कहकर पल्ला झाड़ लिया है कि जितना कानपुर प्रशासन की ओर से कहा गया था उतना पैसा दिया गया है. वहीं सरकारी अधिकारी इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं और कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *