ऐहार : सरकारें बदलती रहीं, लेकिन नहीं बदले गए जर्जर तार, अब PMO से आखिरी उम्मीद

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले के ऐहार में गांव में जर्जर तारों की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) तक कर दी गई है. इस मामले को अब अंडर सेक्रेटरी अंबुज शर्मा के पास भेजा गया है. उम्मीद है कि ऐहार के गांव के निवासियों को जल्द ही इन 50 साल पुराने तारों से निजात मिल सकेगी. इसके साथ ही सीएम योगी के कार्यालय की ओर से शुरू किए गए जनसुनवाई पोर्टल में भी शिकायत दर्ज की गई है. हालांकि खबर लिखे जाने तक इस प्रार्थना पत्र को संबंधित विभाग तक नहीं बढ़ाया गया और न ही किसी अधिकारी के संज्ञान में लाया गया है.

ग्रामीणों की ओर से प्रधामंत्री कार्यालय में की गई शिकायत

वहीं हिन्दी समाचार पत्र अमर उजाला ने भी इस मामले को प्रमुखता से उठाया है. अखबार ने लिखा है, ‘ऐहार में जर्जर तार दे रहे हादसों को दावत’. गौरतलब है कि बीते कई सालों से ऐहार गांव के निवासियों ने लगातार इन तारों को हटाने की मांग की है.

रात में टूटे हुए तारों को जोड़ते ग्रामीण

सरकारें बदलती रहीं लेकिन तार नहीं बदले गए. हालात ये हैं कि हर रोज तार टूटकर गांव के मुख्यमार्ग पर गिरते हैं और ग्रामीण अपनी चंदा लगाकर रात-रात भर इन तारों को जोड़ते हैं या फिर जुड़वाते हैं.

हिन्दी दैनिक अमर उजाला ने भी उठाया मुद्दा

ग्रामीणों का आरोप है कि लालगंज विद्युत वितरण केंद्र के अधिकारियों का कहना है कि उनके पास तार ही नही हैं और न बजट है. जबकि इसको लेकर करीब 2 लाख रुपये के राशि की संस्तुति करने का आदेश जारी किया जा चुका है. सवाल इस बात का है क्या ये पैसा विभाग को भेजा गया है या नहीं, अगर भेजा गया है तो इसके बाद क्या हुआ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *