Ganga Expressway : रायबरेली के इन गांवों की जमीन का अधिग्रहण तय

उत्तर प्रदेश में गंगा एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट को लेकर भूमि अधिग्रहण की तैयारी बड़े ही जोर-शोर से चल रही हैं. वहीं इस प्रोजेक्ट को लेकर ग्रामीणों में भी काफी उत्साह देखने को मिल रहा है. नए भूमि अधिग्रहण नियमों के चलते जमीन पर मिलने वाला मुआवजा सर्किल रेट का चार गुना होता है स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि जमीन के बदले उन्हें अच्छी-खासी रकम मिलने की उम्मीद है और इस पैसे वे अपना नया व्यापार-धंधा शुरू कर सकते हैं.

इसी कड़ी में रायबरेली के जिलाधिकारी की ओर से अखबारों में दिए गए विज्ञापन के मुताबिक डलमऊ और ऊंचाहार के उन गावों के लोगों की सूची जारी की गई जिनकी जमीन या खेत इस परियोजना के तहत अधिग्रहीत करने के लिए प्रस्तावित है. डीएम कार्यालय की ओर से दी गई सूचना के मुताबिक डलमऊ तहसील के उबरनी और सुल्तानपुर जनौली और ऊंचाहार तहसील के जलालपुर बेही, चिचौली, धोबहा, जगतपुर, गोवर्धन गांव की जमीनें अधिग्रहीत की जाएंगी.

आपको बता दें कि गंगा एक्सप्रेसवे को मेरठ से लेकर प्रयागराज तक बनाया गया. कुल 1314 हेक्टेअर जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा जिसमें छह लेन का एक्सप्रेसवे बनाया जाएगा. दोनों तरफ 130 मीटर चौड़ाई तक की भूमि अधिग्रहण का प्रस्ताव है. 70-80 हजार किसानों की भूमि अधिग्रहीत की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *