Delta Plus Variant : 3 दिन में ही गले से फेफड़ों में पहुंच जाता है नया कोरोना!

भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर नए वैरिएंट के रूप में आने की आशंका बढ़ती जा रही है. इस नए वैरिएंट का नाम डेल्टा प्लस रखा गया है. इस नए वैरिएंट से देश में अब तक 40 से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं. कई विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना का ये नया रूप पहले वाले दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार माने वाले डेल्टा वैरिएंट से काफी घातक और तेज संक्रमण फैलाने वाला है. वहीं इस पर वैक्सीन कितना असर करेगी इस पर अभी कुछ साफ नहीं कहा जा सकता है.

वहीं कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि हो सकता है वैक्सीन से बनने वाली इम्युनिटी को भी ये वैरिएंट धोखा दे दे. एम्स के निदेशक का कहना है कि जहां एक और दूसरी लहर के शांत पड़ने के संकेत मिल रहे हैं तो वहीं इसका तीसरी लहर की आशंका बढ़ती जा रही है. उन्होंने कहा कि अगर कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाए तो तीसरी लहर के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है.

महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, पंजाब से आने वाले केसों में डेल्टा प्लस की पुष्टि हो चुकी है. मध्य प्रदेश में इस वैरिएंट से दो लोगों की मौत भी चुकी है. आपको बता दें कि इससे पहले कोरोना का वायरस मरीजों को फेफड़ो तक पहुंचने में कम से कम 7 दिन का वक्त लेता है. लेकिन ये वैरिएंट फेफड़ों तक पहुंचने में सिर्फ 3 दिन का समय ले रहा है.

इसकी ऐसी तीव्रता को देख स्वास्थ्य मंत्रालय भी चिंतित है. केंद्र सरकार की ओर से सभी राज्यों को पहले ही अलर्ट भेज दिया है. वहीं इस वैरिएंट को लेकर देश के वैज्ञानिक अध्ययन कर रहे हैं और इस पर वैक्सीन कितना असर करेगी इसकी रिपोर्ट एक दो दिन में जारी कर दी जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *