रायबरेली : गरीबों का अनाज कोटा से मंडी ले जा रहा लोडर ग्रामीणों के कैमरे में कैद, खुलेआम भ्रष्टाचार का आरोप

ऊपर आप जिस लोडर की तस्वीर देख रहे हैं वो रायबरेली जिले के लालगंज तहसील के गांव ऊगाभाद के कोटे से सरकारी राशन ले जा रहा है जिसे व्यापारी मंडी में बेचेगा. इस पूरे मामले का वीडियो और तस्वीर गांव के युवक ने मोबाइल में कैद किया है. युवक ने आरोप लगाया है कि कोटेदार सुरेश चंद्र त्रिपाठी बीते 20 सालों कोटे पर काबिज हैं और वो हर साल लाखों रुपये के अनाज का व्यापारियों के हाथों बेच देते हैं. इस वीडियो को 11 जुलाई 2021 को बनाया गया है.

वीडियो बनाने वाले युवक ने बताया कि कोटेदार राशन वितरण के दौरान इलेक्ट्रानिक कांटे का प्रयोग न कर तराजू का इस्तेमाल करते हैं जिसमें वो घटतौली कर अनाज बचा लेते हैं. गांव का मामला और कोटोदार के रसूख के चलते कोई भी बोलने के लिए तैयार नहीं होता है और गरीबों के हक पर ऐसे ही खुलेआम डाका जा रहा है. वहीं इस मामले में जब आरोपी कोटेदार से संपर्क करने की कोशिश की गई तो उनका मोबाइल खबर लिखे जाने तक पहुंच से बाहर बता रहा था.

गौरतलब है कि कोरोना वायरस महामारी झेल रहे देश के गरीबों के लिए सरकार अनाज उपलब्ध करा रही है. इस पूरी योजना में सरकार की ओर से लाखों-करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं. इस योजना के लाभार्थियों ने भी सस्ते दर में मिल रहे अनाज की क्वालिटी की तारीफ की है. लेकिन इस अनाज के वितरण में भ्रष्टाचार का भी खेल जारी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *