कोरोना से डरे-सहमे गांव : अफसर आंकड़ों में और नवनिर्वाचित प्रधान जीत की खुमारी में मस्त

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में नवनिर्वाचित प्रधान जहां जीत की खुमारी में डूबे हुए हैं तो जिला प्रशासन कोरोना के आंकड़ों को ही मैनेज करने में व्यस्त दिख रहा है, लेकिन दूसरी ओर से गांवों में कोविड-19 के मरीजों की संख्या बढ़ रही है और यहां पर कोई भी टीम जांच करने और उचित दवा देने के लिए नहीं पहुंच पा रही है.

गांवों में बिगड़ती हालत की रिपोर्टिंग मीडिया में जरूर हो रही है लेकिन प्रशासन आंखें मूंदे बैठा है. कुछ दिन पहले ही सतांव ब्लॉक के सुल्तानपुर खेड़ा गांव में 17 लोगों की मौत की खबर आने के बाद प्रशासन जागा लेकिन तब तक यह बीमारी गांव को चपेट में ले चुकी है. सही समय पर इलाज मिल जाता तो कई लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती थी.

प्रतिष्ठित हिन्दी दैनिक अखबार अमर उजाला के मुताबिक गंगा के किनारे कटरी के 6 गांवों में महीने भर में 30 लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन जिले के अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है. अखबार में छपी खबर के मुताबिक चकमलिक भीटीं, जमालनगर, मोहद्दीनीपुर, बाबुरा, चांदपुर, बैती गांवों में संक्रमण ने पैर पसार रखा है. लेकिन कटरी इलाको होने की वजह से स्वास्थ्य सेवाओं में टीमें यहां तक नही पहुंची हैं.

हालांकि यह हाल सिर्फ कटरी इलाके के गांवों का ही नहीं है ज्यादातर गांवों में लोग स्थानीय झोलाछाप डॉक्टरों के भरोसे ही अपना इलाज करा रहे हैं. डलमऊ तहसील के ऐहार ग्राम पंचायत के कई गांवों में मौतों की खबरे आ रही हैं. लेकिन इनमें से किसी भी मरीज की पहुंच सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं तक नहीं हो पाई.

लेकिन उन मौतों का कोई आंकड़ा नहीं है जिनका सरकारी फाइलों में कोई रिकॉर्ड नही है. लेकिन अगर किसी को जमीनी हकीकत जानना है तो उसे श्मशान स्थलों में जाकर देखना चाहिए कि किस तरह से वहां पर शवों को बालू में दफनाया जा रहा है.

रायबरेली के गेगासो घाट की तस्वीर बताई जा रही है

वहीं पंचायत स्तर पर भी काम रुके पड़े हुए हैं. नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान अभी जीत की खुमारी में हैं और वे शासन की ओर से आदेशों का इंतजार कर रहे हैं जबकि उनको अभी से ही गांवों की स्थिति जानकर प्रशासन से मेडिकल टीमें भेजनी की मांग करनी चाहिए.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गांवों में संक्रमण को रोकने के लिए सभी कदम उठाने के आदेश दिए हैं. लेकिन इस पर अमली जामा जमीनी स्तर पर कब पहनाया जाएगा ये देखने वाली बात होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *